गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए ? Pregnancy Ultrasound Kab Karna Chahiye - hindigyan24

गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए ? Pregnancy Ultrasound Kab Karna Chahiye

Pregnancy Ultrasound Kab Karna Chahiye

Pregnancy Ultrasound Kab Karna Chahiye

प्रेगनेंसी हर माता पिता के लिए एक बेहद ही खूबसूरत पल होता है। और इसके दौरान बच्चे की सेहद और विकास के लिए ultrasound test एक बेहद ही महत्वपूर्ण होता है। कई लोग जानना चाहते है की pregnancy me ultrasound kab karaye तो आज हम आपको इस लेख में इसके बारे में जानकरी देने वाले है।

आपको बता दे की अल्ट्रासाउंड टेस्ट एक non-invasive test होता है जो की high-frequency sound waves का प्रयोग करके बच्चे और uterus की तस्बीर लेती है। और इस टेस्ट के लिए किसी भी radiation exposure की आवश्यक नहीं होता है।

और इस टेस्ट में किसी भी प्रकार का दर्द नहीं होता। लेकिन सवाल है है की kab pregnancy ultrasound karwana chahiye?तो चलिए जानते है

गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए ?

डॉक्टर्स के अनुसार जब प्रेगनेंसी का समय चलता है तब बच्चे की धड़कन को सुनने के लिए अल्ट्रासॉउन्ड किया जाता है और यह प्रेगनेंसी और बच्चे दोनों के लिए बेहद जरुरी होता है। इस टेस्ट में यह पता चलता है की बच्चा सुरक्षित है या नहीं।

आपको बता दे की गर्भावस्था में होने वाली पहली अल्ट्रासॉउन्ड को डेटिंग भी कहा जाता है। अब सवाल यह है की प्रेग्नन्सी में पहली अल्ट्रासॉउन्ड कब करें ? तो आपको बता दे की पहला अल्ट्रासॉउन्ड छठें और सातवें सप्ताह के बिच किया जाता है।

यह टेस्ट करना जरुरी होता है और इस टेस्ट से पता चलता है की बच्चा गर्भाशय में सही जगह है या नहीं। और इसके साथ यह भी देखा जाता है की बच्चे की दिल की धड़कनें सही चल रहा है या नहीं। डॉक्टर्स का कहना है की गर्भावस्था के हर तिमाही में एक अल्ट्रासॉउन्ड करना चाहिए और सलाह भी देते है

प्रेग्नेंसी में कितने अल्ट्रासाउंड होते हैं (Pregnancy Me Kitne Ultrasound Hote Hai)

देखा जाये तो भारत में अल्ट्रासॉउन्ड कब और कितने बाद कराये इसके बारे में किसी भी प्रकार का निर्देशन जारी नहीं है लेकिन डॉक्टर्स के अनुसार पहला अल्ट्रासॉउन्ड 8 से 14 हप्ते और दूसरा अल्ट्रासॉउन्ड 18 से 20 हप्ते में करवाना चाहिए इससे बच्चे की स्वस्थ के बारे में जानकरी मिलती है।

यह भी पढ़े :

प्रेगनेंसी में अल्ट्रासाउंड क्यो करवाए और इसके फायदे

प्रेगनेंसी के समय अल्ट्रासॉउन्ड करवाने से बच्चे की स्वस्थ के बारे में पूरी जानकारी मिलता है और बच्चे की धड़कन के बारे में भी सही जानकारी मिलता है और यह करवाना बेहद जरुरी है और अल्ट्रासॉउन्ड करवाने के फायदे क्या है ? आइये जानते है

  • 6 से 7 सप्ताह के बिच में एक अल्ट्रासॉउन्ड करवाना बेहद जरुरी है इससे बच्चे की दिल की धड़कन का पता चलता है
  • अल्ट्रासॉउन्ड करवाने से बच्चे की लंबाई और थैली का पता चलता है और इसी से बच्चे का डिलेवरी टाइम पता चलता है
  • अल्ट्रासॉउन्ड से पता चलता है की पेट में सिंगल बच्चा है या जुड़वाँ
  • इसके अलावा गर्भाशय के अंदर का स्थिति कैसी है इसके बारे में जानकारी मिलता है

Disclaimer:

इस ब्लॉग में दिया हुवा सभी जानकारी एक सामान्य शिक्षा के लिए है और और यह किसी भी प्रकार का चिकित्सा सलाह, निदान और प्रचार नहीं करता। और अपने गर्भवती होने या बच्चे की सेहद से जुडी किसी भी प्रकार का सवाल, चिंता और जानकारी हमेशा अपने डॉक्टर्स से परामर्श लें।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आजकी इस लेख में हमने गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए ? Pregnancy Ultrasound Kab Karna Chahiye इसके बारे में जानकरी लिया है और हमने इस लेख में अल्ट्रासॉउन्ड कब करवाना चाहिए और कितने बार करवाना चाहिए इसके बारे में भी पूरी जानकारी दिया है। अल्ट्रासॉउन्ड एक प्रेगनेंसी के लिए बेहद ही जरुरी होता है। क्यो की अगर सही समय में अल्ट्रासॉउन्ड करवाने से बच्चे के स्वस्थ के बारेमे पूरी जानकारी मिलता है , ऐसे ही जानकारी के लिए साइट में विजिट करते रहें

FAQ

प्रेग्नेंसी में कितने अल्ट्रासाउंड होते हैं

डॉक्टर्स के अनुसार पहला अल्ट्रासॉउन्ड 8 से 14 हप्ते और दूसरा अल्ट्रासॉउन्ड 18 से 20 हप्ते में करवाना चाहिए इससे बच्चे की स्वस्थ के बारे में जानकरी मिलती है।

अल्ट्रासाउंड क्यो करें ?

अल्ट्रासाउंड करने से बच्चे की दिल की धड़कन और बच्चे की स्वस्थ के बारे में पूरी जानकारी मिलता है

प्रेगनेंसी में कितने महीने में अल्ट्रासाउंड किया जाता है ?

प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासॉउन्ड 8 से 14 हप्ते और दूसरा अल्ट्रासॉउन्ड 18 से 20 हप्ते में

Leave a Comment