Solar Tracking System PPT क्या है ? - hindigyan24

Solar Tracking System PPT क्या है ?

Solar Tracking System PPT

Solar Tracking System PPT क्या है ?

Solar Tracking System kya hai: दोस्तों Solar Tracking System एक उपकरण है और यह सूर्य की गति को ट्रैक करने के लिए सोलर पैनल में फिट किया जाता है। और इस प्रणाली का उद्देश्य यह है की सोलर पैनल में आने वाली रौशनी को ज्यादा करना है। यानि की रौशनी की मात्रा को ज्यादा करना है। और इस वजह से उनकी दक्षता और ऊर्जा की मात्रा में बढ़ोतरी होता है

आपको बता दे की इस प्रणाली में सेंसर, मोटर और नियंत्रक फिट होते है। और इसमें लगे हुवे सेंसर का काम सूर्य का स्थिति का पाता लगाना है। और इसमें लगे हुवे मोटर का काम यह है की जिस तरह सूर्य जा रहा है उसी तरफ सौर्य पैनल को लेजाना है। आपको बता दे की नियंत्रक सेंसर से इनपुट प्राप्त करता है।

और इसी तरह सौर पैनलों के लिए इष्टतम कोण की हिसाब करता है। और उसके बाद पैनलों के कोण को समायोजित होने के लिए पैनल में लगे हुवे मोटर्स को संकेत भेजता है

सोलर ट्रैकिंग सिस्टम के प्रकार (types of solar tracking systems)

दोस्तों सोलर ट्रैकिंग सिस्टम दो प्रकार के होते है जिनके बारे में हमने निचे लिखे है

Single-axis solar tracking systems

Solar Tracking System PPT Hindi: दोस्तों यह प्रणाली एक बेहद ही महत्वपूर्ण है इसका काम सूर्य की गति को एक धुरी के साथ ट्रैक करना है। यानि की इसका काम पूर्ब से पश्चिम की ओर सूर्य को ट्रैक करना है। यह प्रणाली आसान और कम खर्चीला है लेकिन यह प्रणाली कम सटीक भी होता है

Dual-axis solar tracking systems

और दोस्तों इस प्रणाली का काम पूर्व से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण में सूर्य की गति कितना है इसके बारे में पता लगाने का काम करता है यानि की ट्रैक करता है। दोस्तों यह एकदम सटीक ट्रैकर है और स्थिर रहने वाले सूर्य पैनल के तुलना में यह सिस्टम 45% से भी ज्यादा ऊर्जा को उत्पादन करता है

How do solar tracking systems work? (सोलर ट्रैकिंग सिस्टम कैसे काम करते हैं? )

Solar Tracking System PPT: दोस्तों सौर ट्रैकिंग सिस्टम सूर्य की स्थिति कैसा है यह पता लगाने के लिए एक सेंसर का इस्तेमाल करता है। और आसान भाषा में कहें तो जहा जहा सूर्य जाता है वहां मोटर की मदत से सौर पैनलों को ले जाता है। या फिर लाइट-डिपेंडेंट रेसिस्टर्स (LDRs) भी हो सकता है , जो की सूर्य पैनल से धुप को मात्रा को सटीक जानकारी पता लगाता है

आपको बतादे की इस पैनल में लगे मोटर को एक माइक्रोकंट्रोलर के अंतर्गत कण्ट्रोल किया जाता है और यह सेंसर से इनपुट को प्राप्त करता है। माइक्रोकंट्रोलर तब मोटर को संकेत भेजता है, जो पैनल के कोण को सूर्य की स्थिति के साथ संरेखित करने के लिए समायोजित करता है।

Advantages of solar tracking systems (सौर ट्रैकिंग सिस्टम के लाभ )

  • यह सिस्टम प्रकाश की मात्रा को अधिक करदेता है और ऊर्जा का उत्पादन ज्यादा करता हैं
  • फिक्स्ड पैनल के तुलना में सोलर ट्रैकिंग सिस्टम थोड़ा महंगा आता है लें यह सिस्टम फिक्स्ड पैनल के तुलना ज्यादा ऊर्जा देता है जिससे आपकी लागत जल्दी मिल जाता है यानि की यह सिस्टम अधिक ऊर्जा का उत्पादन करते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आजकी समय में बिज्ञान बहुत आगे निकल चूका है और यह बिज्ञान की ही दें है की आज हम उजाला में रह रहे है और बिज्ञान से ही हमें सोलर ट्रैकिंग सिस्टम मिला है। और यह एक बेहतरीन सिस्टम है जो हमें ऊर्जा देता है और यह स्थिर सोलर पैनल से ज्यादा ऊर्जा देता है , यह सिस्टम सूर्य की स्थिति के अनुसार ऊर्जा देता है यानि की जहाँ जहाँ सूर्य उसी तरफ इसका पैनल होता है और ऊर्जा ज्यादा देता है , तो दोस्तों ऐसे ही जानकारी के लिए हमरे साइट में विजिट करते रहें

यह भी पढ़े :

FAQ

सोलर ट्रैकिंग सिस्टम क्या है ?

Solar Tracking System एक उपकरण है और यह सूर्य की गति को ट्रैक करने के लिए सोलर पैनल में फिट किया जाता है। और इस प्रणाली का उद्देश्य यह है की सोलर पैनल में आने वाली रौशनी को ज्यादा करना है।

क्या सोलर पैनल घूमता हैं?

जी हाँ दोस्तों यह उपकरण जहाँ जहाँ सूर्य जा रहा है वहां इसका पैनल जाता है यानि सूर्य की पथ में यह पैनल रहता है और ऊर्जा की उत्पादन ज्यादा होता है

Leave a Comment