Papaya Leaf Juice For Dengue | डेंगू के लिए पपीते के पत्ते का रस के फायदे जानिए - hindigyan24

Papaya Leaf Juice For Dengue | डेंगू के लिए पपीते के पत्ते का रस के फायदे जानिए

Papaya Leaf Juice For Dengue

Papaya Leaf Juice For Dengue

दोस्तों स्वागत है आपको हमारे इस लेख में आजकी इस लेख में हम Papaya Leaf Juice For Dengue के बारे में बात करेंगे। दोस्तों जब भी बरसात आती है तब डेंगू ज्यादातर दिखाई देता है। क्यो की बरसात के मौसम में ही डेंगू बीमारी होती है। डेंगू एक बेहद ही खतरनाक बुखार होता है। इस से जान भी जा सकती है।

लेकिन डेंगू से बचने के लिए पपीते के पत्तों (Papaya Leaves) सेवन किया जा सकता है। आइये जानते है इसके बारे में डिटेल्स में

दोस्तों बरसात के मौसम में काफी बारिश होती है और हर जगह पानी भरा हुवा होता है। और इसी भरे हुवे पानी में मच्चर पनपता है। और यही मच्चर की वजह से लोगो को मलेरिया, चिकनगुनिया और डेंगू जैसे भयंकर बीमारी होती है।

और यह बीमारी कई मरीजों को बहुत ही बुरा असर करती है। इस बीमारी से मरीजों की मौत भी हो जाती है। और इसी को देखते हुवे हम आपको एक ऐसा घरेलु उपाए बताएंगे जिससे डेंगू आपके आस पास भी नहीं भटकेगा

Is Monk Fruit Good For Diabetes| डायबिटीज के मरीजों के लिए सबसे अच्छा फल है यह

डेंगू इतना क्यो खतरनाक है ?

दोस्तों डेंगू एक बेहद खतरनाक बीमारी है। आपको बता दे की जिसको भी डेंगू होता है उसको जानलेवा बुखार होता है। कई लोग इस बीमारी के चलते मौत भी हो जाती है। और आपको बता दे की जब भी डेंगू होती है तो पेशंट की प्लेटलेट्स बेहद निचे गिरती है।

और इसी के कारन पेशंट की रोग प्रतिरोधक क्षमता और ब्लड को बहने का छमता धीमा हो जाता है। और अगर अच्छे से दवा नहीं किया गया तो मौत भी हो सकता है।

प्लेटलेट्स क्या है ? ( What is platelets in hindi )

अगर आपको प्लेटलेट के बारे में पता नहीं है तो बता दे की प्लेटलेट्स महीन रक्त कोशिकाएं होती है। और प्लाट लेट का आवश्यक बहुत होता है क्यो की यह हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता को मेन्टेन बनाये रखता है। और आपको जानकारी करदें की खून में थक्का या पपड़ी जमने का काम भी यही करता है

आपको जानकारी करदें की जब भी डेंगू होती है तो यानि की बुखार के समय नाक से खून आना और मसूड़े से खून गिरना और पेशाब करते समय खून आने की समस्या देखा जाता है

दोस्तों डेंगू की बुखार में घरेलु उपचार में आप पपीते का पत्ता का सेवन कर सकते है। इसके बारे में हमने निचे पूरी डिटेल्स बता रहे है। आइये जानते है इसके डिटेल्स

डेंगू के लिए पपीता का पत्ता कैसे फायदेमंद है

दोस्तों पपीता तो अपने कभी ना कभी तो खाया ही होगा लेकिन पपीता का पत्ता एक औसधि गुणों से भरपूर होता है। जी हाँ दोस्तों पपीता के पत्तो में विटमिन-सी और ऐंटिऑक्सीडेंट्स की भरपूर मात्रा होती है। और विटमिन-सी हमारे सरीर में इम्युनिटी पावर्स को बढ़ने में मदत करता है।

Disadvantages of eating late at night : दोस्तों देर रात खाना खाने की आदत है तो इस आदत को सुधारना …

और इसी तरह ऐंटिऑक्सीडेंट्स वायरल और वायरस को सरीर में प्रवेश नहीं करने देता है। दोस्तों डेंगू में किस तरह पपीता का पत्ता प्रयोग करते है आइये जानते है

पपीते के पत्तों का इस्तेमाल किस तरह करें ?

दोस्तों डेंगू के लिए पपीता का पत्ता बेहद लाभदायक है। और पपीता का पत्ता एक औषधी गुण से भरपूर होता है। डेंगू के समय इस का उपयोग किया जा सकता है लेकिन कैसे किया इसके बारे में कई लोगो को पता नहीं होता इसी लिए हम आपको इसके बारे में जानकरी देने जा रहे है। दोस्तों पपीता का पत्ता का जूस डेंगू के लिए तैयार करना होता है।

डेंगू के लिए जूस ही प्रयोग में आता है। अगर इसका जूस खाने में कड़वा लगते है तो आप इसमें सहद या फिर अन्य फल का जूस का इस्तेमाल कर सकते है।

पपीता जा जूस कैसे तैयार करें ?

दोस्तों कई लोगो को पपीता का जूस बने का तरीका पता नहीं है। इसके लिए आपको सबसे पहले पपीता के पत्ते को लेना है और अच्छे से साफ करना है। उसके बाद मिक्सर में डालके जूस बना लेना है। उसके बाद सहद या फिर अन्य जूस डालके पि सकते है।

आपको जानकारी करदें की डेंगू हुवे मरीजों को दिन में 3 बार इसका जूस दिया जाता है ताकि उनके सरीर में कमजोरी ना हो और प्लेटलेट की कमी ना हो

Disclaimer: इस ब्लॉग में लिखा गया आर्टिकल सिर्फ सामान्य जानकारी देता है। इसमें किसी भी प्रकार की योग्य चिकित्सा राय सलाह नहीं देता है। अधिक जानकारी लेने के लिए आपको किसी भी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से सलाह लेना होगा। hindigyan24 इन सभी जानकारी के लिए जिम्मेदार का दवा नहीं करता।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आजकी इस लेख में हमने डेंगू के लिए पपीता का जूस के बारे में बताया है। अगर आपको डेंगू से बचना है तो पपीता का जूस का सेवन कर सकते है। अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो जरूर शेयर करे धनयबाद

FAQ

डेंगू के लिए पापाया लीफ जूस क्यो फायदेमंद है ?

कुछ आंकड़ों के अनुसार, वायरल बीमारी डेंगू बुखार, जो मच्छरों द्वारा फैलता है, इसका इलाज पपीते के पत्तों के रस से किया जा सकता है। तेज बुखार, कष्टदायी सिरदर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द और दाने डेंगू बुखार के कुछ लक्षण हैं। अधिक गंभीर मामलों में, डेंगू रक्तस्रावी बुखार, एक संभावित घातक परिणाम, विकसित हो सकता है।

पपीता जा जूस कैसे तैयार करें ?

सबसे पहले पपीता के पत्ते को लेना है और अच्छे से साफ करना है। उसके बाद मिक्सर में डालके जूस बना लेना है। उसके बाद सहद या फिर अन्य जूस डालके पि सकते है।

प्लेटलेट्स क्या है ?

छोटी, डिस्क के आकार की रक्त कोशिकाएं जिन्हें प्लेटलेट्स कहा जाता है, जिन्हें थ्रोम्बोसाइट्स भी कहा जाता है, रक्त के थक्के जमने में भूमिका निभाती हैं। लाल रक्त कोशिकाओं और सफेद रक्त कोशिकाओं के साथ, वे अस्थि मज्जा में बनते हैं।

डेंगू होने पर पपीता के पत्ते का उपयोग कैसे करें?

सबसे पहले पपीता के पत्ते को लेना है और अच्छे से साफ करना है। उसके बाद मिक्सर में डालके जूस बना लेना है। उसके बाद सहद या फिर अन्य जूस डालके पि सकते है।

क्या डेंगू होने पर मरीज पपीते के पत्ते का जूस पी सकते हैं?

कुछ आंकड़ों के अनुसार, वायरल बीमारी डेंगू बुखार, जो मच्छरों द्वारा फैलता है, का इलाज पपीते के पत्तों के रस से किया जा सकता है। तेज बुखार, कष्टदायी सिरदर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द और दाने डेंगू बुखार के कुछ लक्षण हैं।

Leave a Comment