Is Monk Fruit Good For Diabetes| डायबिटीज के मरीजों के लिए सबसे अच्छा फल है यह - hindigyan24

Is Monk Fruit Good For Diabetes| डायबिटीज के मरीजों के लिए सबसे अच्छा फल है यह

Is Monk Fruit Good For Diabetes

Is Monk Fruit Good For Diabetes

दोस्तों स्वागत है आपको हमारे इस लेख में आजकी इस लेख में हम आपको monk fruit for Diabetes in hindi के बारे में बताएंगे। दोस्तों आपको बता दे की यह फल डायबिटीज के लिए बेहद लाभदायक है। और हम आज सिर्फ इसके फायदे के बारे में ही बात करने वाले है

लेकिन इसके फायदे के बारे में बात करने से पहले आपको इस फल के बारे में ( about monk fruits in hindi ) जानकारी देंगे तो चलिए जानते है

Monk Fruit के बारे में ( about monk fruits)

Monk fruit for diabetes in hindi: दोस्तों इस फल को भारत में साधु फल कहा जाता है। आपको बता दे की यह फल सबसे ज्यादा चीन में उत्पादन होता है। और दोस्तों जिन साधुओ ने इस फल का खेती किया था उसी के नाम से monk fruits नाम दिया गया था और यह फल प्राचीन में चिकत्सक लोग इस फल का इस्तेमाल किया करते थे इस फल के कई फायदे है ,

स्वस्थ के लिए बेहद लाभ दायक है इस फल में आपको कैलोरी, कार्बोहायड्रेट और फैट नहीं मिलता। इस फल का सेवन करके आप अपना वजन को आसानी कम कर सकते है। दोस्तों यह फल देखने में बेल की तरह दीखता है।

आपको जानकारी करदे की 13 वी सदी में बौद्धा भिक्षुओ ने इस फल का खेती किया था। आपको बता दे की तजा monk फ्रूट्स जल्दी ख़राब हो जाता है।

image credit : istock

इसी लिए ज्यादातर इसका इस्तेमाल सूखा फल का किया जाता है। तो चलिए दोस्तों अब इस फल का डायबिटीज के फायदे के बारे में जानते है

Monk Fruit For Diabetes in hindi

Monk Fruit For Diabetes hindi: दोस्तों डॉक्टर्स हमेसा डायबिटीज मरीजों को खान पिन के लिए सुझाव और सल्ल्हा देते रहते है। खास कर उनको मीठा आइटम से बचने की सल्ल्हा देते है। ताकि वह अपना शुगर लेवल को कण्ट्रोल कर सके लेकिन दोस्तों आजकी इस लेख में हम एक ऐसा फल के बारे में बात करेंगे जो डायबिटीज के लिए बेहद लाभदायक है। आइये जानते है

यह भी पढ़े: Best Juice For Health In Hindi: शरीरको ताकत देने के लिए इन जूस का सेवन करें

दोस्तों हम बात कर रहे है मोंक फ्रूट्स के बारे में दोस्तों यह फल इतना मीठा है की इसके आगे चीनी भी कम मीठा लगने लगेगा। लेकिन इतना मीठा होने के वाबजूद अगर डिबिटिस रोगी है तो आप इस फल का सेवन कर सकते है। इस फल में आपको भरपूर मात्रा में पोषक तत्व मिलता है। और इस फल में पाए जाने वाले पोषक तत्व सरीर के लिए बेहद फयदेमंद है।

दोस्तों आपको बता दे की इस फल का उत्पादन अब भारत में भी किया जा रहा है। सबसे अच्छी बात तो यह है की यह फल सबसे ज्यादा मीठा होने के बावजूद शुगर फ्री फल है। यानी की डाइबिटीस वाले इस का सेवन कर सकते है

साधु फल के प्रयोग करने की तरीके (Ways to use monk fruit)

दोस्तों आप मोंक फ्रूट्स को कैसे इस्तेमाल कर सकते है इसके बारे में हमने निचे दिया है, दोस्तों आप किसी भी खाने वाले चीज के लिए साधु फल के स्वीटनर्स का इस्तेमाल कर सकते है जैसे की हमने निचे बताया हुवा है

  • कॉफ़ी के साथ
  • गर्म चाय, आइस्ड टी, या नींबू पानी के साथ भी
  • सलाद के रूप में
  • सॉस के साथ में इस्तेमाल कर सकते है
  • दही के साथ भी
  • दलिया या अन्य गर्म अनाज के साथ भी ले सकते है

मॉन्क फ्रूट के फायदे (benefits of monk fruit in hindi)

दोस्तों इस फल के अनेक फायदे है निचे इस फल के फायदे दिए है

  • दोस्तों मोंक फ्रूट्स में कम्पाउंड मोग्रोसाइड्स पाया जाता है और यह ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल करने में मदत करता है
  • और दोस्तों इस फल का अर्क डायबिटीज की जटिलताओं को नियंत्रित करने में बेहद मदतगार साबित हुवा है
  • और इस फल का सेवन करने से इंफेक्शन से बचा जा सकता है
  • इस फल में एंटीबायोटिक और एंटी कैंसर प्रॉपर्टीज पाया जाता है जो की कोलोरेक्टर और गले के कैंसर को बढ़ने से रोकता है
  • और दोस्तों इस फल का सेवन करने से कैंडिडा के जोखिम को भी नियंत्रित कर सकता है
  • इस फल में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज पाया जाता है , इससे इंफ्लेमेशन से बचाव करने में मदत करता है
  • और साथ में कैलोरी, फैट और कार्बोहाइड्रेट्स नहीं पाया जाता है इससे वजन को नियंत्रित कर सकते है

मोंक फ्रूट्स टाइप 2 डायबिटीज को कण्ट्रोल करता है

दोस्तों आपको जानकारी करदें की मोंक फ्रूट्स में मोग्रोसाइड्स पाया जाता है। और यह एक प्रकति का सबसे मीठा फल है। यह फल डाइबिटीस रोगी के लिए एक बेहद शानदार फल है। आपको बता दे की डाइबिटीस रोगियों के लिए उन फलो का सेवन करने के लिए कहा जाता है। की जो प्रकृति रूप से मीठा हो।

और मोंक फ्रूट्स ही एक ऐसा फल है जो आप सेवन कर सकते है। यानी की मधुमेह के लिए यह फल किसी बरदान से कम नहीं। इस फल का सेवन प्रग्नेंट महिलाये भी कर सकते है।

कैसे सुरु हुवा भारत में Monk fruit की खेती ?

दोस्तों सबसे पहले यह फल चीन में उगाया गया था वहां के भिक्षुओ ने इस फल की खेती किया और monk फ्रूट का नाम दिया। लेकिन दोस्तों अब यह फल की खेती इंडिया में भी कई जगहों में किया जा रहा है। और यह फल का खेती इंडिया में कैसे सुरु हुवा इसके बारे में भी जानेंगे।

image credit: SARAYA

जी हाँ दोस्तों इस फल की खेती इंडिया में हिमालयन बायो रिसोर्स टेक्नोलॉजी, कुल्लू(CSIR-IHBT) और पालमपुर स्थित कॉउंसलिंग ऑफ़ साइंटिफ़िक रिसर्च के शोध किया गया था। और शोध करते समय ही यह पता लगाया गया की इस फल की खेती भारत में भी हो सकता है .और अब इस फल की खेती करने के लिए हिमालये में इसका खेती बोया जा रहा है।

Disclaimer: इस ब्लॉग में लिखा गया आर्टिकल सिर्फ सामान्य जानकारी देता है। इसमें किसी भी प्रकार की योग्य चिकित्सा राय सलाह नहीं देता है। अधिक जानकारी लेने के लिए आपको किसी भी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से सलाह लेना होगा। hindigyan24 इन सभी जानकारी के लिए जिम्मेदार का दवा नहीं करता।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आजकी इस लेख में हमने मोंक फ्रूट्स के बारे में कई महत्वपूर्ण बाते जाने है , मोंक फ्रूट्स स्वस्थ के लिए बेहद लाभ दायक है। इस के बारे में हमने ऊपर पुरे डिटेल्स में बताया है। अगर अपने अच्छे से पढ़ा है तो आपको पूरी डिटेल्स मिल जाएगा , आशा करते है आपको इस लेख से सभी बातें क्लियर हो गया होगा , इसी तरह का आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे इस साइट में विजिट करते रहे

FAQ

भिक्षु फल को भारत में क्या कहते हैं?

भिक्षु फल को भारत में सिरैतिया ग्रोसवेनोरी कहा जाता है

भिक्षु फल को भारत में कहां उगाया जाता है?

भिक्षु फल को भारत में हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में उगाया जाता है

क्या भिक्षु फल मधुमेह के लिए अच्छा है?

अगर डिबिटिस रोगी है तो आप इस फल का सेवन कर सकते है। इस फल में आपको भरपूर मात्रा में पोषक तत्व मिलता है। और इस फल में पाए जाने वाले पोषक तत्व सरीर के लिए बेहद फयदेमंद है।

Leave a Comment